नमस्कार दोस्तों...और हम बात करेंगे उस शानदार युवा बल्लेबाज की जिन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया है. विजय हजारे ट्रॉफी 2021 में इस खिलाड़ी ने खासकर जो प्रदर्शन किया वह बेहद...बेहद ही शानदार रहा. हम बात कर रहे हैं कर्नाटक के युवा सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल की Devdutt Padikkal Biography In Hindi तो आज हम उनके बचपन, परिवार, करियर के बारे में बात करेंगे. तो चलिए शुरू करते हैं.

      Devdutt Padikkal Biography In Hindi

Devdutt Padikkal Family | देवदत्त पडिक्कल परिवार


Devdutt Padikkal Biography In Hindi में बात करें तो देवदत्त तक का जन्म 7 जुलाई 2000 को केरल के इदप्पल शहर में हुआ. देवदत्त के पिताजी का नाम बबनु कुनाथ पडिक्कल और माताजी का नाम अम्बिली बेलन पडिक्कल है. देवदत्त को एक बहन भी है जिन का नाम चांदनी पडिक्कल है’

देवदत्त के पिता पेशे से एक बिजनेसमैन है. और उनकी बहन चांदनी पेशे से वकील है. उनकी माता गृहणी है. हर भारतीय बच्चे की तरह ही देवदत्त को भी क्रिकेट खेलना बचपन से काफी पसंद था. उनके पिताजी भी क्रिकेट को काफी शौकीन थे.

इसी के चलते 9 साल की उम्र में ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया. इसके 2 साल बाद देवदत्त का पूरा परिवार निजी कारणों की वजह से बेंगलुरु में शिफ्ट हो गया. यहां के सेट जोसफ़ बॉयज हाईस्कूल में देव दत्त ने अपनी शुरुआती शिक्षा पूरी की. और वही सेट जोसफ़ कॉलेज में अपनी पढ़ाई पूरी की.

फिर उनके क्रिकेट में रुचि को देखते हुए उन्होंने कर्नाटक क्रिकेट संस्थान में क्रिकेट की कोचिंग लेना शुरू कर दिया. यहा देवदत्त ने कड़ी मेहनत करते हुए क्रिकेट की बारीकियां सीखी. और अपने खेल में निखार लाने लगे. और इसी कड़ी मेहनत का फल उन्हें मिला 2018 में कर्नाटक रणजी टीम में शामिल कर लिया गया.


Devdutt Padikkal First Class | देवदत्त पडिक्कल फर्स्ट-क्लास करियर


Devdutt Padikkal Biography In Hindi में बात करे देवदत्त के फर्स्ट क्लास करियर की तो उन्हें जल्दी ह़ी Undar-14 में मौका मिला. फिर वहां से अच्छे प्रदर्शन के चलते उन्हें 2014 में अंडर 16 टीम में शामिल कर लिया गया. यहां मिले हुये मौक़े का देवदत्त ने भरपूर फायदा उठाते हुए कुछ शानदार पारी खेली.

फिर 2017 में उन्हें भारतीय अंडर-19 टीम में भी चुना गया. फिर उन्होंने कर्नाटक की तरफ से खेलने के लिए बुलाया गया. यहां उन्होंने अपना पहला मुकाबला खेला 28 नवंबर 2018 को महाराष्ट्र के खिलाफ. अपने इस चयन को सही ठहराते हुए देवदत्त ने पहले ही मैच के दूसरी पारी में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 78 रनों की शानदार पारी खेली. और सबको अपनी प्रतिभा का परिचय दिया.

और आगे भी उन्होंने कुछ शानदार अर्धशतकीय पारियां भी खेली. अप्रैल 2021 तक देवदत्त कुल 15 फर्स्ट-क्लास मुकाबले खेले जहां उन्होंने 34.88 की औसत से और 10 अर्धशतक की मदद से 907 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ - 99)


Devdutt padikkal List A Career | देवदत्त पडिक्कल लिस्ट ए करियर


Devdutt Padikkal Biography में अब बात करें देवदत्त के लिस्ट ए करियर की तो फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें सप्टेंबर 2019 में लिस्ट ए मुकाबला खेलने का मौका मिला. 2019 में खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी में कर्नाटक की तरफ से उनका चयन हुआ.

26 सितंबर 2019 को झारखंड के खिलाफ उन्होंने अपना पहला मुकाबला खेला. और यहां उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करते हुए बतौर ओपनर 58 रनों की बेहतरीन पारी खेली. और इस पूरी श्रृंखला में देवदत्त का बल्ला जोरदार तरीके से बोला और उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 11 इनिंग में 5 अर्धशतक और 2 शतक की मदद से 609 रन बनाए.



Devdutt Padikkal Vijay Hazare Trophy 2021 | देवदत्त पडिक्कल विजय हजारे ट्रॉफी 2021


Devdutt Padikkal Biography अब तक हर बार शानदार प्रदर्शन करने वाले देवदत्त के क्रिकेट करियर का यह सबसे बेहतरीन दौर रहा. जब उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी 2021 में बेहद अभूतपूर्व बल्लेबाजी की. यहां उन्होंने महज 7 मुकाबलों में शानदार 147.40 की औसत से 4 शतक और 3 अर्धशतक की मदद से 737 रन बनाए. और पूरे विजय हजारे ट्रॉफी में 70 चौके और 21 छक्के लगाए .

पहला- 20 फरवरी 2021 - vs उत्तर प्रदेश- 52 रन

दूसरा- 22 फरवरी 2021 - vs बिहार- 97 रन 

तीसरा- 24 फरवरी 2021 - vs उड़ीसा- 152 रन

चौथा- 26 फरवरी 2021 - vs केरला- 126 
नॉट आउट

पांचवां- 28 फरवरी 2021 - vs रेलवे- 145 नॉट आउट

छट्टा- 8 मार्च 2021 - vs केरला- 101 रन

सातवा- 11 मार्च 2021 - vs मुंबई- 64 रन


Devdutt Padikkal IPL Career | देवदत्त आईपीएल करियर


Devdutt Padikkal Biography में बात करते हैं देवदत्त के आईपीएल करियर की तो. ईस शानदार बल्लेबाज को 2019 के ऑक्शन में खरीदा आरसीबी ने. देवदत्त ने अपना पहला मुकाबला 20 सितंबर 2020 को हैदराबाद के खिलाफ खेला. आईपीएल के पहिले ह़ी मुकाबले में देवदत्त का बल्ला जोरदार तरीके से बोला. आरसीबी के लिए ओपनिंग करते हुये देवदत्त ने 42 गेंदों में 8 चौके की मदद से 56 रन बनाए. इसी तरह यहां उन्होंने कुल 15 मुकाबले खेले जहां उन्होंने 31.53 की औसत से और 5 अर्धशतक की मदद से 472 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ-74)