नमस्कार दोस्तों, जैसे सभी भारतीयों को चिंता सता रही थी कि सचिन तेंदुलकर के संन्यास लेने के बाद उनकी जगह कौन सा खिलाड़ी ले सकता है. और अब सचिन की कमी नहीं खलने देते वह विराट कोहली. और उसी तरह भारतीय टीम की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ के बाद कौन सा सक्षम बल्लेबाज है. जो भारतीय टीम में दीवार की भूमिका बखूबी निभा सके...तो वही राहुल द्रविड़ की झलक दिखती है भारतीय टीम के मध्यक्रम के शांत और सयमी बल्लेबाज अजिंक्य रहाने में. तो आज हम बात करेंगे अजिंक्य रहाणे के जीवन करियर और कुछ पसंदीदा चीजों के बारे में…Ajinkya Rahane Biography in hindi | अजिंक्य रहाणे की जीवन कहानी. तो चलिये शुरू करते है.

Ajinkya Rahane Biography in hindi | अजिंक्य रहाणे की जीवन कहानी.

Ajinkya Rahane family-अजिंक्य रहाने परिवार-

बात करें अजिंक्य रहाने के बचपन और शुरुआती जीवन की तो. अजिंक्य रहाने का जन्म 6 जून 1988 में अहमदनगर, महाराष्ट्र में एक हुआ था. अजिंक्य रहाणे के पिताजी का नाम मधुकर रहाने है और माताजी का नाम सुजाता रहाने हैं. अजिंक्य को ऐक छोटा भाई शंशाक रहाने और ऐक छोटी बहन अपूर्वा रहाने भी है.

अजिंक्य जब बहोत छोटे थे. तभी ऊनके पिताजी पुरे परिवार के साथ डोबवली, मुंबई आ गये. तब मधुकर रहाने मुबंई में नौकरी करते थे. अजिंक्य ने अपनी शुरुआती शिक्षा सी.पी जोशी हाईस्कूल डोंबिवली से पूरी की. बाद में उन्होंने अपना बी.कॉम भी पूरा किया.

बचपन से ही अजिंक्य रहने बहुत शर्मीले लड़के थे. वैसे तो वह आज भी है पर बचपन में कुछ ज्यादा ही शर्मीले थे. उनकी यह आदत दूर करने के लिए उनके पिताजी ने उन्हें एक कराटे क्लास ज्वाइन करवा दिया.

आपको बता दें कि अजिंक्य रहाने एक ब्लैक बेल्ट चैंपियन है. अजिंक्य को कराटे के साथ-साथ क्रिकेट में भी बचपन से बहुत लगाव था. तब अजिंक्य के पिताजी ने घर की आर्थिक तंगी होने के बावजूद अजिंक्य को डोंबिवली की एक छोटे से क्रिकेट कोचिंग सेंटर में भेजने का फैसला लिया.

वहां अजिंक्य ने काफी दिल लगाकर क्रिकेट की बारीकियां सीखी. घर में पैसों की परेशानियां देखकर अजिंक्य रहाणे पैदल ही अपने कोचिंग सेंटर आते जाते थे. और उनकी माताजी रोजाना उन्हें 3 किलोमीटर छोड़ने और लेने जाती थी.

अजिंक्य को अब क्रिकेट के प्रति बेहद लगाव हो गया था. और वह स्कूल के बाद पूरा वक्त अपने क्रिकेट एकेडमी अभ्यास करते हुए ही गुजरते थे. और महज 17 साल की उम्र में उन्हें पूर्व भारतीय क्रिकेटर प्रवीण आमरे से कोचिंग लेने का मौका मिला.

प्रवीण आमरे की कोचिंग में अजिंक्य रहने के बल्लेबाजी में कुछ अलग ही निखार आता गया. क्रिकेट के प्रति अपना लगाव और मेहनत अजिंक्य के काम आ गई. और उन्हें 2008 के लिए मुंबई की तरफ से रणजी ट्रॉफी खेलने का मौका मिला.

यहा उन्होंने ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया. तब से ही उनकी तुलना राहुल द्रविड़ से होने लगी. और इसी साल उन्हें ने भारतीय अंडर-19 न्यूजीलैंड दौरे के लिए चुना गया. इस दौरे पर भारतीय टीम के स्टार खिलाड़ी विराट कोहली, रविंद्र जडेजा, इशांत शर्मा, अपना डेब्यू करने वाले थे.

न्यूजीलैंड के फास्ट पिचों पर शानदार बल्लेबाजी करते हुए अजिंक्य रहाने ने 2 शतक लगा दिए. इसी तरह लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे रहाने चयनकर्ताओं की नजर में बैठ गए. और उनके बेहतरीन प्रदर्शन का तोहफा मिल गया 2011 में जब उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाले एकदिवसीय मैचों के लिए भारतीय टीम में चुना गया.


Ajinkya Rahane Career-अजिंक्य रहाणे करियर.

घरेलू और अंडर-19 टीम के लिए किए गए अपने शानदार प्रदर्शन के बाद अब मौका था सभी भारतीयों की उम्मीदों पर खरा उतर कर भारतीय टीम के लिए दूसरी दीवार बना. 2011 में हुए इंग्लैंड में खेले जाने वाले एकदिवसीय मैचों के लिए अजिंक्य को टीम में शामिल कर लिया गया.


30 सितंबर 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए अपने पहले मुकाबले में अजिंक्य ने 44 गेंदों में 40 रन बनाकर अपनी बेहतरीन तकनीक का सबको परिचय दिया. और 3 दिन बाद वह दूसरे मुकाबले में अजिंक्य रहने ने अपना पहला एकदिवसीय अर्धशतक लगाया उन्होंने 114.89 की स्ट्राइक रेट से 43 गेंदों में 54 रनों की जबरदस्त पारी खेली.


इस श्रृंखला में अजिंक्य ने कुल 5 मुक़ाबले खेले. वहा उन्होंने 1 अर्धशतक की मदद से 158 रन बनाए. माना कि यह आंकड़े कुछ खास नहीं थे. पर जिस तरह अजिंक्य रहाने ने इंग्लैंड की तेज पिचों पर अपनी तकनीक और संयम का परिचय दिया वह काबिले तारीफ था.


और इस दौरे पर उन्होंने अपना पहला T20 मुकाबला भी खेला. जहां पर उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने पहले ही मुकाबले में 39 गेंदों में शानदार 61 रन बनाए. आक्रामकता और संयम इन दोनों का संगम अजिंक्य रहाने में दिखाई दिया.

बाद में कई छोटी बड़ी पारियों के साथ अजिंक्य रहने भारतीय टीम में बने रहे. फिर 2012/13 में अजिंक्य रहांने को भारतीय टेस्ट टीम में भी जगह मिली. 22 मार्च 2013 को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अजिंक्य ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेला.

पर यहां पर अजिंक्य का पहला टेस्ट काफी खराब रहा और उन्होंने अपनी दोनों पारियों में मिलाकर महज 8 रन बनाए. फिर साल भर उन्हें क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिला. साल के आखिर में उन्हें साउथ अफ्रीका टूर के लिए चुना गया.

यहां पर खेले गए 2 टेस्ट मैचों में अजिंक्य ने शानदार प्रदर्शन किया. और 69.67 के औसत से और 2 अर्धशतक शतक की मदद से 209 रन बनाए. अभी भी अजिंक्य को इंतजार था अपने पहले आंतरराष्ट्रीय शतक का. और उनका यह इंतजार जल्दी खत्म हुआ.

14 मार्च 2014 को अपने 5वे ही टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ अजिंक्य रहाणे 158 गेंदों में 17 चौके 1 छक्के की मदद से 118 रनों की शानदार पारी खेली. इस साल सितंबर 2014 को इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय मैचों में भी उन्होंने अपना पहला शतक लगा दिया. इस मुकाबले में अजिंक्य रहाणे ने आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए 100 गेंदों में 10 चौके और 4 छक्कों की मदद से बेहतरीन 106 रन बनाए.

और आपको बता दें 2015 में जिंबाब्वे दौरे के लिए महेंद्रसिंह धोनी, विराट कोहली और भारतीय टीम के कई महत्वपूर्ण खिलाड़ी को विश्राम देने का फैसला लिया गया. और इसी वजह से अजिंक्य रहाने को भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया.

और अपनी कप्तानी में भी अजिंक्य रहाने सबसे सफल कप्तान साबित हुए. जिंबाब्वे के खिलाफ खेले गए 3 एकदिवसीय मैचों में युवा टीम की कप्तानी में शानदार प्रदर्शन करते एकदिवसीय शृंखला 3-0 से अपने नाम की. और दो टी20 मुकाबले में 1-1 से बराबरी की.


अजिंक्य रहाने एकदिवसीय करीयर-


अक्टूबर 2021 तक अजिंक्य रहाने ने कुल 90 एकदिवसीय मैच खेले. जहां उन्होंने 3 शतक, 24 अर्धशतक और 35.26 की औसत से 2962 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ-111)


अजिंक्य रहाने टेस्ट करीयर-


अक्टूबर 2021 तक अजिंक्य रहाने ने कुल 78 टेस्ट मैच खेले. जहां उन्होंने 39.63 के औसत से 12 शतक और 24 अर्धशतक की मदद से 4756 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ-188)


अजिंक्य रहाने T20 करीयर-


मार्च 2020 तक अजिंक्य रानी ने 20 टी20 मुकाबले खेले. जहां उन्होंने 20.83 की औसत से और 1 अर्धशतक की मदद से 375 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ-61रन)


अजिंक्य रहाणे आईपीएल करियर-


अक्टूबर 2021 तक अजिंक्य रहाने ने कुल 151 आईपीएल मुक़ाबले खेले. जहां उन्होंने 31.52 के औसत से 2 शतक और 28 अर्धशतक की मदद से 3941 रन बनाए. (सर्वश्रेष्ठ-105 नाबाद)



Ajinkya Rahane Wife-अजिंक्य रहाने वाइफ.


अब बात करें अजिंक्य रहाने के जिंदगी से जुड़ी कुछ रोचक चीजों के बारे में बात करें तो.


अजिंक्य रहाणे धर्मपत्नी के बारे में तो... आपको बता दे अजिंक्य रहाने के धर्मपत्नी का नाम राधिका धोपावकर है. दोनों ने 26 सितंबर 2014 को शादी के बंधन में बंध गए. अजिंक्य और राधिका बचपन से ही अच्छे दोस्त थे उनके घर थोड़ी ही दूरी पर थे.


दोनों अच्छे दोस्त हैं यह दोनों के घरवालों को मालूम था. पर वह एक दूसरे को दिल दे बैठे हैं. यह किसी के घर वालों को मालूम नहीं था. पर दोनों ने यह रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं छुपाया और अपने अपने घर पर इस रिश्ते के बारे में बता दिया.


अजिंक्य भी तब तक भारतीय क्रिकेट में अपना नाम बना चुके थे. इसलिए दोनों परिवारों के संमती से उन्होंने 2014 में हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार शादी कर ली. अजिंक्य की शादी का एक मजेदार किस्सा है. अजिंक्य के शादी के दिन अजिंक्य रहाणे अपने दोस्त और परिवार के साथ राधिका के घर पर गए. तो वह शादी के कपड़ों के बजाय टी-शर्ट और जींस पैंट पहनकर शादी के लिए पहुंच गए.


यह देखकर राधिका काफी गुस्सा हुई और अजिंक्य को घूर घूर कर देखने लगी. एक इंटरव्यू में अजिंक्य रहाणे ने बताया है. कि वह उनकी जिंदगी की सबसे बड़ी भूल थी. और मुझे लगा था राधिका के घर वाले मुझे कपड़े लेने वाले हैं. इसलिए मैं जींस पेंट और टीशर्ट में वहां पहुंच गया.



Ajinkya Rahane Records-Achivements-अजिंक्य रहाणे रिकॉर्ड और पुरस्कार.


- World Test Championship में शतक लगाने वाली अजिंक्य रहाणे पहले भारतीय बल्लेबाज है.


- World Test Championship में मैन ऑफ द मैच लेने वाले भी अजिंक्य रहने पहले भारतीय खिलाड़ी है.


- आईपीएल में 6 गेंदों में 6 चौके लगाने का रिकॉर्ड भी अजिंक्य रहाणे के नाम पर है.


- एक कप्तान के तौर पर अपना पहला टेस्ट में जीत हासिल करने वाले अजिंक्य रहाने       वाले भारतीय खिलाड़ी है.


- एक टेस्ट में गैर विकेटकीपर खिलाड़ी द्वारा सबसे ज्यादा कैच पकड़ने का रिकॉर्ड भी अजिंक्य रहने के नाम पर है.


- टी-20 मुकाबले में सबसे ज्यादा कैच पकड़ने वाले 5 खिलाड़ियों के साथ संयुक्त रूप में शामिल है.


- राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए सर्वोच्च स्कोर अजिंक्य के ही नाम पर है. (105 रन नॉटआउट)