नमस्कार दोस्तों, कल 14 नवंबर को t20 विश्वकप 2021 का शानदार फाइनल मुकाबला खेला गया. इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने बेहतरीन तरीके से न्यूज़ीलैंड को 8 विकेट से मात दी. तो चलिए देखते हैं पूरे मुकाबले का विश्लेषण. Aus vs Nz kal Ka Final Match Kon Jeeta | ऑस्ट्रेलिया vs न्यूजीलैंड का कल का फाइनल मैच कौन जीता....तो चलिए शुरू करते हैं.

दोस्तों “दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम” में कल शाम 7:00 ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरोन फिंच ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया.

यह फैसला जिस उम्मीद से ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरोन फिंच ने लिया वह उनकी उम्मीद पूरी नहीं हुई. माना कि न्यूजीलैंड के ऊपर डेरिल मिशेल महज 11 रन बनाकर अपना विकेट गंवा बैठे. और तभी से न्यूजीलैंड की पारी धीमी पड़ गई. और थोड़ी ही देर में मार्टिन गुप्टिल ने 28 रनों पर अपना विकेट एडम जांपा को दे दिया. तब फिंच को उम्मीद थी कि न्यूजीलैंड की पारी 150 के अंदर रोकी जाये.

पर इन सब पर पानी फेरा न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने... शुरुआत में धीमी बल्लेबाजी कर रहे विलियमसन ने 10वें ओवर खत्म होते ही आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी की शुरुआत की. और उनका कहर टूटा ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क के खिलाफ. स्टार्क ने अपने 4 ओवर में 60 रन लुटा दिए. और ज्यादा इसमें ज्यादातर योगदान रहा न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन का.

कप्तान केन विलियमसन ने 48 गेंदों में 10 चौके और 3 छक्कों की मदद से 85 रनों की शानदार पारी खेली. ऐसा लग रहा था न्यूजीलैंड 185/ 190 के आसपास रन बनाएगी. और केन विलियमसन अपना शतक भी पूरा करेंगे. तभी 85 रनों पर वह हेज़लवुड गेंद पर कैच आउट हो गए. इसके बाद सेमीफाइनल के हीरो जेम्स नीशम आखिर में 1 छक्का लगाकर 13 रन पर नाबाद रहे. इसी के चलते न्यूजीलैंड ने अपने 20 ओवर में 4 विकेट खोकर 172 रनों का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया के सामने रखा.


इसके जवाब में बल्लेबाज़ी करने उतरी ऑस्टेलिया को पहला झटका दिया न्यूज़िलेंड के तेज़ गेंदबाज़ ट्रेंड बौल्ट ने जब उन्होंने केवल 15 रन पर ऑस्टेलिया के कप्तान एरोन फिंच (5) रनों पर आउट किया. ईस ख़राब शुरुवात के बाद सबको लगा अब ऑस्टेलिया को ईस मुक़ाबले में वापसी करना मुश्किल होगा.

पर हुआ इसके उल्टा तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने आये मिचेल मार्श ने आते ह़ी न्यूज़ीलैंड के गेंदबाजों की धुलाई शुरू कर दी. न्यूज़िलेंड के गेंदबाजों को कुछ समज आने से पहिले ह़ी वार्नर ने अभी अपना बल्ला घुमाना शुरू कर दिया. और देखते देखते वार्नर और मार्श ने तीसरे विकेट के लिये 92 रनों के बेहद आक्रामक साझेदारी कर डाली.

डेविड वार्नर 38 गेंदों में 4 चौके और 3 छके लगाकर 53 रनों पर आउट तो हुये. पर ईस से ऑस्टेलिया के पारी में कोई फरक नहीं पड़ा. मैक्सवेल ने भी आये आये आक्रामक अंदाज में बल्लेबाज़ी शुरू कर दी. यहा मैक्सवेल ने 18 गेंदों 4 चौके और 1 छके की मदत से 28 रन बनाकर नाबाद रहे. वही ईस मुक़ाबले के हीरो रहे मिचेल मार्श ने केवल 50 गेंदों में 6 चौके और 4 छको की की मदत से 77 रनों पर नाबाद रहे.

और ऑस्टेलिया ने 7 गेंद पहिले 8 विकेट से यह मुक़ाबला अपने नाम किया. और पहिली बार टी20 विश्वकप की विजेता बनी.